केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान आज / गुरूवार, 22 जुलाई / से संसद मार्च शुरू कर रहे हैं. भारी सुरक्षा के बीच किसान  जंतर-मंतर पर अपन एकता दिखायेंगे और सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करेंगे. दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 9 अगस्त तक प्रतिदिन विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति दी है | अधिकतम 200 किसानों द्वारा प्रदर्शन की विशेष अनुमति दी गई है |

फाइल फोटो

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान आज / गुरूवार, 22 जुलाई/ से संसद मार्च शुरू कर रहे हैं. भारी सुरक्षा के बीच किसान जंतर-मंतर पर सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करेंगे| दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 9 अगस्त तक प्रतिदिन किसानों द्वारा प्रदर्शन की विशेष अनुमति दे दी है| अधिकतम 200 किसानों द्वारा प्रदर्शन की विशेष अनुमति दी गई है | दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि प्रतिदिन चार बसों में 200 किसानों का एक समूह पुलिस की सुरक्षा के साथ बसों में सिंघू सीमा से जंतर-मंतर आएगा और वहां सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक विरोध प्रदर्शन करेगा. कृषि कानून वापस लेने की मांग को लेकर कांग्रेस के सांसदों ने संसद भवन परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया है|

किसानों को लेकर आ रही बस को दिल्ली बॉर्डर पर रोक दिया गया है.
 दिल्ली पुलिस किसानों को दूसरे रूट से लाने की बात कर रही है, जबकि किसान जीटी-करनाल रोड से लाने की बात कर रहे हैं|
पुलिस बस में बैठे किसानों को गिनना चाह रही है,इस मुद्दे पर भी टकराव चल रहा है| पुलिस ने इसके बाद सभी किसानों को एक रिजॉर्ट्स के अंदर लेकर गई है, ताकि उनकी गिनती की जा सके| दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि जंतर-मंतर पर पहुंचने वाले हर किसान के पास पहचान पत्र होगा, जिसे चेक करने के बाद ही वहां जाने की अनुमति दी जाएगी| किसानों को यह पहचान पत्र संयुक्त किसान मोर्चा दे रहा है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *