बिहार के जहानाबाद में पुलिस हिरासत में एक मौत के बाद ग्रामिण लोग भड़क गए.

बिहार के जहानाबाद में पुलिस और आम लोगों आमने सामने आ गये . हिरासत में एक मौत के बाद यहां लोग भड़क गए. भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश में एक महिला कॉन्स्टेबल की भी मौत हो गई . पुलिस ने इस दौरान हवाई फायरिंग की. वहीं कई पुलिसकर्मी पत्थरबाजी में घायल हो गए.

बिहार पुलिस

अशोक कुमार पांडे उपमंडल पुलिस अधिकारी (SDPO) जहानाबाद ने बताया कि जिले के पारसबीघा थाना क्षेत्र में हुए प्रदर्शन के कारण व्यस्त जहानाबाद-अरवल हाईवे पर घंटों जाम लगा रहा. और कहा, “भीड़ गोविंद मांझी की मौत पर गुस्से में थी, जिसे कुछ समय पहले शराब के कारोबार में लिप्त होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. गोविंद मांझी को औरंगाबाद जिले की जेल में बंद कर दिया गया था.” बिहार में शराब की बिक्री और खपत पूरी तरह से प्रतिबंधित है.

उन्होंने आगे कहा, “मांझी की शुक्रवार को जेल में मौत हो गई. जैसे ही यह खबर यहां पहुंची, उनके गांव के लोग शारीरिक प्रताड़ना के कारण मौत का आरोप लगाते हुए राजमार्ग पर बैठ गए. जब ​​एक पुलिस टीम ने उन्हें समझाने की कोशिश की, तो उन्होंने हिंसा पर उतर आये .”उन्होंने कहा “कांस्टेबल कांति देवी ऑपरेशन में लगी हुई थीं. इसी दौरान वह एक वाहन से टकरा गई थीं. घायल अवस्था में उन्हें अस्पताल ले जाया गया. अस्पताल ले जाने के दौरान उन्होंने दम दम तोड़ दिया”.

प्रदर्शन कर रहे लोगों ने इस दौरान पत्थरबाजी भी की और उनमें से कुछ ने अवैध असलहों के जरिए फायरिंग भी की. कई पुलिस कर्मियों को गंभीर चोटें आई हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *