Berojgari

कोल्कता में बेरोजगारी का अलग ही नजारा दिखा . वहा के एक सरकारी अस्पताल में डोम पद के लिए इंजीनियर और पोस्ट ग्रेजुएट ने भरा आवेदन . केवल 6 वैकेंसी पे लगभग 8000 आवेदन भरे गए है .

6 पद के लिए 8,000 आवेदन , मुर्दा घर में डोम पद के लिए .

कोलकाता: 

दरअसल मामला कोलकाता में एक सरकारी अस्पताल का है . जहा शवों को संभालने के लिए प्रयोगशाला सहायक के छह पदों के लिए वैकेंसी निकली गई . भर्ती के लिए आवदेन करनेवाले 8000 आवेदकों में इंजीनियर, स्नातक और परास्नातक उम्मीदवार शामिल दिखे . मुर्दाघर में बोलचाल में प्रयोगशाला सहायक को ‘डोम’ भी कहा जाता है. चिकित्सा प्रतिष्ठान के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि नील रत्न सरकार चिकित्सा कॉलेज सह अस्पताल के फ़ॉरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सीकोलॉजी विभाग में ‘डोम’ के छह पदोंके लिए वैकेंसी निकली . जिसमे भर्ती के लिए आवेदन देने वालों में करीब 100 इंजीनियर, 500 स्नातकोत्तर और 2,200 स्नातक उम्मीदवार हैं.

जिसमे कुल आवेदकों में से 84 महिला उम्मीदवारों समेत 784 को एक अगस्त को होने वाली लिखित परीक्षा के लिए बुलाया गया है.

पिछले साल दिसंबर में निकली भर्ती की अधिसूचना के अनुसार इस पद की अहर्ता कम से कम आठवीं पास और उम्र सीमा 18-40 साल है. वहीं मासिक वेतन 15,000 रुपये है.

यह अचंभित करने वाला है कि इंजीनियरिंग, परास्नातक और स्नातक की डिग्री रखनेवालों ने इस पद के लिए आवेदन किया. ऐसा पहली बार हुआ. इससे देश में बेरोजगारी का अंदाजा लगाया जा सकता है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *